हस्तमैथुन – Hastmaithun

October 30, 2018

hastmaithun

हेलो दोस्तों ! आपका स्वागत है. आज मैं डॉ आर्य यहाँ आपके साथ इस लेख में एक बहुत ही संवेदनशील विषय पर जानकारी शेयर कर रहा हूँ।
आज के इस आधुनिक युग में कोई भी जानकरी किसी से भी छुपी नहीं है । इसके फायदे भी है और नुकसान भी, इन्ही में से इक नुकसान है । एडल्ट कंटेंट का कम उम्र के बचो तक पहुंचना। जिसक्के कारन वो बचपन में ही गलत आदतों में पद जाते है जैसे हस्तमैथुन ।

हस्तमैथुन सही या गलत ।

अधिकतर लोग अपने जीवन में हस्थमैतुन करते है और ये एक सामान्य बात है पैर समस्या तब गंभीर हो जाती है । जब आप इसके अदि हो जाये और हफ्ते में 1 बार से ज्यादा हस्तमैथुन करे। इसके परिणाम और भी गंभीर हो सकते है यदि 18 से कम उम्र में आपको हस्तमैथुन की लत हो जाये ।

हस्तमैथुन की लत के कारण ।

हस्तमैथुन का सीधा और साफ कारण है दिमाग में गलत विचार का होना । जीन वजहों ये ये गलत विचार दिमाग में आते है वो इस प्रकार है ।
1. यौवन का आना – जब लड़को या लड़कियों को यौवन अत है तो उनकी गुप्त अंग में रूचि बढ़ जाती है । और किसी दोस्त की सलहा को मानकर हस्तमैथुन करने लगते है अगर उन्हें समय पर सही सेल्हा न मिले तो वो इसके अदि हो जाते है ।
2. गलत संगत – बचे अधिकतर हस्तमैथुन गलत सांगत में ही सीखते है या गलत संगत में एडल्ट फिल्म देखकर काम उम्र में ही उत्तेजित होने लगते है और ऐसे में हस्तमैथुन की लत का सीकर जो जाते है ।
3. अकेलापन – जैसा हम जानते है की खली दिमाग शैतान का घर होता है । खली समय में दिमाग में यौवन अवस्था के कारण एडल्ट बाते आने लगती है और बच्चे हस्तमैथुन करने लगते है ।
4. इंटरनेट – आज कल हेर घर में इंटरनेट है । और बच्चोके हाथ में मोबाइल रहते है तो वो इस का इस्तमाल पोर्न देखने में करने लगते है और हस्तमैथुन के अदि हो जाते है ।
5. सही सलहा का आभाव – हम चाहे कितना भी दोसे संगति या पोर्न को दे ले पर सच यह भी है की इन सबके होते हुए भी कुछ बचे हस्तमैथुन नहीं करते । इसके सबसे मुखी कारण सही सलहा का आभाव है । हमारे समाज के रवैये के कारण सेक्स एजुकेशन को गलत मानाजाता है न ही कोई घर में इस गंभीर मुड़े पर बात करता है । तो बच्चा को जो बात दोस्तों से पता चलते है उसे ही सही मने लगता है । चाहे वो सही हो या गलत ।

हस्तमैथुन के नुकसान ।

अत्यधिक हस्तमैथुन के मनु शरीर पर काफी दुष्प्रभाव होते है । जैसे..

1 शरीर में कमजोरी – जैसा आप जानते होंगे 1 विरए की बुँदे बने में 10 खून की बूंदो का योगदान होता है । अत्यधिक हटमाटहुँ से काफी वीर्यव निकलता है । और शरीर का अधिकतर खून विरए बनाने के ही लग जाता है और शरीर में कमजोरी अणि लगती है ।
2 आलास – शरीर में कमजोरी आने से सुस्ती आजाती है और किसी काम में मन नहीं लगता। जिसका सदी असर आपकी पढाई और काम पर होता है ।
3 कमर के निचले हिसे में दर्द होना – अत्यधिक हस्तमैथुन करने से कमर का निचला हिस्सा कमजोर जो जाता है । फलसवरूप कम उम्र में ही निचले हिंसा में दर्दे रहने लगता है । उम्र बढ़ने के साथ घुटनो में भी दर्दे रहें लगता है ।
4 शुक्राणु की कमी – अधिक विरए निकलने ये विरए कफर पतला हो जाता है और शुक्राणु की कमी आजाती है ।
5 शीघ्रपतन की समस्या – हस्तमैथुन करते समय वयक्ति को क्लाइमेक्स तक पहुंचने की जल्दी होती है, ऐसा लम्बे समय तक करने से यही उसके शरीर की आदत भी हो जाती है और पार्टनर के साथै सेक्स करते समय आदत वस् क्लाइमेक्स जल्दी हो जाता है और पार्टनर भी असंतुस्ट रह जाता है।
6 नामर्दी की शिकायत – कुछ मामलों में अत्यधिक हस्तमैथुन से सेक्स में रूचि कम हो जाती है और sadi के बाद वयक्ति को तनाव नहीं आता और वह सेक्स करने में असफल रहते है ।

हस्तमैथुन का इलाज ।

हस्तमैथुन इक मानसिक बीमारी है । इसका इलाज भी संभव है । इसका इलाज किस डॉक्टर से जयादा रोगी की इच्छाशक्ती पर निर्भर है । यदि रोगी इस के इलाज के लिए दृढ़संकल्प है तो केवल इसके कारणो को रोकना होता है ।

1. किसी भी प्रकार के एडल्ट बातो, फोटो या वीडियो से दूर रहे ।
2. अपने दिमाग को किसी बड़े लक्ष्य की और केंद्रित करे । इस से बेकार बातो के लिए आप के दिमाग में जगह ही नहीं रहेगी ।
3. केवल उन्ही लोगो के साथ रहे जो आपकी लक्ष्य प्राप्ति में सहायक हो । इस से आपकी संगत सही होगी और टोकरी में सब का उद्धरण तो आप भी जानते होंगे ।
4. कुछ युवाओ को रात में हस्त्मथुन के बिना नींद नहीं आती वो सुबह जल्दी उठे दिन में आराम न करे, अगले दिन के लिए सोने से पहले योजना बनाये, इस से आप अगले दिन के लिए उत्साहित रहेंगे और आप को नींद भी जल्दी आएगी ।
5. उपरोक्त सभी से ज्यादा जरूरत है यौवन अवस्था में सही सलहा की ताकि हस्तमैथुन की लत ही न लगे। अगर बचे के माँ-बाप या विध्यापक इस से सम्बंधित सही जानकरी नहीं देंगे तो वो कही सुने बातो को मानकर जीवन को बर्बाद कर लेंगे । आपकी शर्म और संकोच बच्चो के लिए हानिकारक हो सकते है ।

आखिर में मैं डॉ आर्य यही कहना चाहूंगा की बच्चे हमारे देशका भविष्ये है शर्म और संकोच में पेड़ केर इन्हे अज्ञान के अंधरे में न धकेले । अगर आप को लगता है की आप या आपका बच्चा हस्तमैथुन की लत से पीड़ित है तो आप मेरे उपरोक्त दिए इलाज को अपनये इस से आप को जरूर फायदा मिलेगा अगर आप ऐसा कर पाने में असमर्थ है तो निसकंकोच मुझे संपर्क करे ।

धन्यवाद
डॉ आर्य,
अमर क्लिनिक

Leave a Reply:

Your email address will not be published. Required fields are marked *